अब निर्णायक लड़ाई का समय आ गया है -रुदल प्रसाद खरवार (पूर्व ग्राम प्रधान)

अब निर्णायक लड़ाई का समय आ गया है

-रुदल प्रसाद खरवार (पूर्व ग्राम प्रधान) 


कपिलदेव खरवार 

कुशी नगर: पूरा देश आज़ादी की 75 वीं स्वर्ण जयंती महोत्सव के जश्न में डूबा है।ऐसे में मुझे अत्यंत दुख और दर्द के साथ कहना पड़ता है कि आजादी के 75 साल बाद भी हमारा खरवार समाज डॉ बाबासाहेब भीमराव अम्बेडकर के दिये संवैधानिक अधिकार से पूरी तरह से बंचित है।आज भी हमारा समाज अपने अधिकारों के लिए दिन रात संघर्ष कर रहा है।अब निर्णायक लड़ाई का समय आ गया है।  

उपरोक्त बातें प्रादेशिक खरवार सभा जिला कुशीनगर इकाई अध्यक्ष और पूर्व ग्राम प्रधान रूदल खरवार ने महराजगंज में एक सभा को संबोधित करते हुए कहा।उन्होनें आगे अपने भाषण में यह भी कहा कि हर जाती जैसे ब्राम्हण,कुशवाहा,बनिया,शर्मा,यादव सभी का व्यवसायिक और पुकार नाम होता है।उसी तरह सरकारी अभिलेखों में भूलवस कमकर शब्द अंकित हो गया है।जब कि यह व्यवसायिक और पुकारु शब्द है।खरवार समाज की मांग पर सरकार ने  इसपर शोध कराया है।कमकर कोई जाती नही है।अब तो शोध में भी यह तथ्य उजागर हो गया है।मोदी और योगी सरकार ने अपने कार्यकाल के कम समय में ही कई ऐसे साहसिक निर्णय लेकर जनहित में काम किया।मैं इस सभा के माध्यम से केंद्र और राज्य सरकार से अपील करना चाहता हूँ कि उत्तर प्रदेश के 75 सालों से उपेक्षित खरवार समाज को न्याय दिलाने के लिए अपने सरकारी अभिलेखों में कमकर शब्द को विलोपित करते हुए खरवार अंकित कर के खरवार समाज को न्याय दिलाने का काम करे।

कार्यक्रम में मुख्य अतिथि लव कुमार सिंह,भरत सिंह,राजू रंजन सिंह,योगेन्द्र राम(झारखंड)प्रो,इन्द्राशन प्रसाद खरवार,मोतीलाल खरवार,डॉ नंदलाल खरवार,सूर्यनाथ खरवार,गौर खरवार,छोटेलाल खरवार,नरेन्द्र खरवार,राजेन्द्र खरवार,शैलेश खरवार,वकील खरवार,शिवनारायण खरवार,सुनीता खरवार,अर्चना खरवार मुंबई के वरिष्ठ पत्रकार कपिलदेव खरवार पत्रकार संजय खरवार आदि मौजूद थे।

कार्यक्रम का आयोजन प्रादेशिक खरवार सभा महराजगंज के जिला अध्यक्ष अद्या प्रसाद खरवार तथा आरत प्रसाद खरवार ने किया।आरम्भ में देश के महान स्वतंत्रता संग्राम सेनानी नीलाम्बर-पिताम्बर,डॉ बाबासाहेब अम्बेडकर और महात्मा ज्योतिबाराव फूले की तस्वीर पर माल्यार्पण किया गया।

भोजपुरी सिनेमा के कलाकार और गायक टी-सीरीज फेम धर्मेन्द्र खरवार के देश भक्ति और देवी भक्ति गीतों को लोगों ने खूब सराहा।




Most Popular News of this Week